‘कैप्टन कूल’ एमएस धोनी की ज़िंदगी से जुड़ी ये खास बाते नहीं जानते होंगे आप, ऐसे सीखा था हेलीकॉप्टर शॉट

'कैप्टन कूल' एमएस धोनी की ज़िंदगी से जुड़ी ये खास बाते नहीं जानते होंगे आप, ऐसे सीखा था हेलीकॉप्टर शॉट

एमएस धोनी, जिन्होंने अपनी बेहतर कप्तानी के साथ भारतीय टीम को विश्व खिताब तक पहुंचाया, बुधवार (23 दिसंबर) को 16 साल के हो गए। धोनी ने 23 दिसंबर 2004 को बांग्लादेश के खिलाफ एकदिवसीय मैच में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में शुरुआत की। वह भारत की ओर से 157 वें एकदिवसीय खिलाड़ी बने।

2004 से 2019 तक, धोनी ने भारतीय टीम के लिए एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उनके नेतृत्व में, भारतीय टीम ने 2007 T20 विश्व कप और 2011 ODI विश्व कप जीता। उन्होंने 2013 में भारतीय टीम को चैंपियंस ट्रॉफी जीतने में भी मदद की। धोनी का क्रिकेट करियर मजबूत रहा है। इस लेख में, आइए धोनी के जीवन की कुछ ऐसी बातों पर एक नज़र डालें, जो आपने शायद ही सुनी होंगी।

1.धोनी का बड़ा भाई

धोनी के पिता पान सिंह और मां देवकी देवी के बारे में सभी जानते हैं। निर्देशक नीरज पांडे की हिंदी फिल्म ‘एमएस धोनी- द अनटोल्ड स्टोरी’ ने यह बता दिया है कि धोनी की एक बहन है जिसका नाम जयंती गुप्ता है। लेकिन, बहुत कम लोग जानते हैं कि धोनी का एक बड़ा भाई भी है।

उनके बड़े भाई का नाम नरेंद्र सिंह है। वह एक राजनीतिक नेता हैं। वह 2009 में भाजपा में शामिल हुए थे। हालांकि, पार्टी नेताओं के साथ मतभेद के कारण उन्होंने पार्टी छोड़ दी। बाद में 2013 में, वह समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए।

धोनी के क्रिकेट की दुनिया मे 16 साल पूरे, कैरियर के पहले दिन व आखिरी दिन घाटी एक ही घटना

2. धोनी की विकेट कीपिंग स्टाइल-

पूरी दुनिया में धोनी के विकेट की तारीफ हुई। लेकिन, उनकी विकेट कीपिंग शैली फुटबॉल के माध्यम से उभरी है। बचपन में, धोनी को फुटबॉल और बैडमिंटन बहुत पसंद थे। उन्होंने क्लब स्तर पर ये दोनों खेल खेले हैं। धोनी फुटबॉल टीम में गोलकीपर हुआ करते थे। फुटबॉल पकड़ने की उनकी शैली ने स्कूल के कोच केशव बनर्जी को प्रभावित किया। बाद में, यह बनर्जी था जिसने धोनी को विकेट लेने के लिए प्रेरित किया।

धोनी ने पहली बार 1994 में स्कूल टीम में विकेटकीपिंग की जिम्मेदारी संभाली और 3 साल की कड़ी मेहनत के बाद उन्हें बल्लेबाजी और विकेटकीपिंग में स्कूल टीम का हीरो बना दिया।

3. धोनी के प्रसिद्ध ‘हेलीकॉप्टर शॉट’ की खोज –

हर कोई धोनी के विशेष ‘हेलीकॉप्टर शॉट’ का दीवाना है। लेकिन धोनी ने इस शॉट का आविष्कार नहीं किया है। उन्हें यह शॉट उनके बचपन के दोस्त संतोष लाल ने सिखाया था। संतोष इस शॉट को ‘थप्पड़ शॉट’ कहते थे। उन्होंने कुछ समोसे के बदले धोनी को यह शॉट सिखाया था। संतोष और धोनी ने झारखंड से एक साथ क्रिकेट खेला।

4. रिकॉर्ड

धोनी ने अपने शानदार करियर में एक कीर्तिमान भी बनाया है। उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ 2017 वनडे में 114 गेंदों में 54 रन बनाए थे। यह किसी भी भारतीय बल्लेबाज का दूसरा सबसे धीमा अर्धशतक है। उनसे पहले यह नाकोसा विक्रम सदगोपन रमेश के नाम पर है।

OMG: स्पिनर युजवेंद्र चहल का विकेट गिरा, धनश्री वर्मा से की शादी

बुरी ख़बर: भारतीय टीम के लिए चौकाने वाली ख़बर! मोहम्मद शमी इतने दिनों रहेंगे क्रिकेट से दूर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *