गाय बेचकर बच्चे को पढ़ाने के लिए दिलाया स्मार्टफोन, सोनू सूद ने बढ़ाया मदद का हाथ

गाय बेचकर बच्चे को पढ़ाने के लिए दिलाया स्मार्टफोन, सोनू सूद ने बढ़ाया मदद का हाथ

सोनू सूद तालाबंदी के दौरान संकट में पड़े लोगों की मदद करने के लिए बहुत प्रशंसा बटोर रहे हैं. सोनू सूद ने हजारों प्रवासियों को लॉकडाउन के दौरान अपने गृहनगर तक पहुंचने में मदद की है और अपनी निस्वार्थ सेवा जारी रखे हुए है. इसके साथ ही हाल ही में दूसरे देशो में पढ़ रहे छात्रो को देश में लाने का काम भी सोनू सूद ने किया है. इसके लिए सोनू सूद ने खुद के चार्टेड प्लेन का सहारा लिया था. हम आपकी जानकारी के लिए बता दे कि सोनू सूद ने यह काम भी फ्री में ही किया था. जिसके लिए उन्होंने कोई मदद भी नहीं ली है.

पिछले कुछ दिनों से, एक परिवार ने अपने बच्चों की ऑनलाइन कक्षाओं के लिए स्मार्टफोन खरीदने के लिए अपनी गाय बेचने की ख़बरें दी हैं. गाय उनकी आय का एकमात्र स्रोत था. महामारी के कारण, स्कूल ऑनलाइन कक्षाएं लेते रहे हैं, जिसके लिए छात्रों को स्मार्टफोन या लैपटॉप की आवश्यकता होती है.

खबर देखने के बाद, सोनू ने वही साझा किया और कहा कि वह अपनी गायों को वापस लाने में मदद करेगा. उन्होंने netizens से परिवार का विवरण साझा करने के लिए भी कहा है. इसके साथ ही हाल ही में सोनू सूद ने एक विधवा औरत और उसके दो छोटे बच्चो को घर भी लेके दिया है. इसके साथ ही सोनू सूद इस समय भी लोगो की मदद करने में लगे हुए है.

इस बीच, सोनू सूद ने हाल ही में प्रवासी रोज़गार नामक एक ऐप पेश किया है जिसके माध्यम से प्रवासी श्रमिक नौकरी करने में सक्षम होंगे. इसकी जानकारी आज ही सोनू सूद ने अपने ट्विटर हैंडल पर दी है.

Happy Birthday Armaan Malik: 5 बातें जो अरमान को मनाती है सबसे अलग, दुनिया के लिए है मिशाल

विद्युत जामवाल ने अक्षय कुमार व सलमान को इस मामले में छोड़ा पीछे, दुनिया के सबसे ताकतवर लोगों में हुए शामिल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *