चीन हमले पर राजीव गांधी द्वारा क्लिक तस्वीर को राहुल गांधी ने किया पोस्ट, 2008 में चीन के साथ किया था करार

चीन हमले पर राजीव गांधी द्वारा क्लिक तस्वीर को राहुल गांधी ने किया पोस्ट, 2008 में चीन के साथ किया था करार

हाल ही में राहुल गांधी का का ट्वीट ‘सुरेन्द्र मोदी’ खूब वायरल हो रहा है. जिसके बाद भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने राहुल गांधी को आड़े हाथ लेना शुरू कर दिया है वंही कांग्रेस पार्टी के समर्थक भी अपने कड़े रुख में है. इसके साथ ही कांग्रेस पार्टी भी मोदी सरकार पर तरह तरह के इल्जाम लगाने शुरू कर दिए है. जिसमे मोदी सरकार पर लद्दाख का हिस्सा चीन को देने, बिना हथियार भारतीय सैनिको को सीमा पर भेजना, भारतीय जवानो की शाहदत का बदला न लेना व सेना के हाथ बांधकर रखना जैसे कई इल्जाम लगाए है. लेकिन अब राहुल गांधी अपनी तिकड़ी में ही फसते नजर आ रहे है. तो आइये जानते है इस पूरी घटना के बारे में.

राहुल गांधी ने हाल ही में अपने सवाल को दोहराते हुए कहा कि चीन ने भारतीय क्षेत्र पर कब्जा कर लिया है, यहां तक ​​कि कमांडर स्तर की बातचीत भी गालवान टकराव और हाल के एलएसी गतिरोध पर दोनों देशों के बीच चल रही है. पूर्व कांग्रेस प्रमुख राहुल गांधी मंगलवार को अपने 2008 के सौदे पर सवालों पर चुप रहे. इसके अलावा, मंगलवार को अपने ट्वीट में, राहुल गांधी ने अपने पिता और पूर्व पीएम राजीव गांधी द्वारा क्लिक की गई एक तस्वीर साझा की. जिसके कैप्शन में लिखा था कि-“चीनी आक्रमण के ख़िलाफ़ हम एकजुट खड़े हैं. क्या भारतीय ज़मीन पर चीन ने कब्ज़ा किया है?

इसके बाद अब वरिष्ठ वकील महेश जेठमलानी ने राहुल की 2008 की यात्रा के दौरान कांग्रेस और चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के बीच हस्ताक्षरित सौदे की एनआईए जांच की मांग की है. जिसमें वर्तमान चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग भी फोटो में मौजूद हैं.

केंद्र ने कहा ‘नहीं हुई कोई घुसपैठ’ 

चीन के साथ संघर्ष के बारे में जानकारी देने के लिए सर्वदलीय बैठक के दौरान, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने जोर देकर कहा कि न तो किसी ने भारतीय भूमि में घुसपैठ की है और न ही देश के किसी भी पद पर कब्जा किया है. विपक्षी नेताओं की आलोचना के लिए यह बयान आने के बाद, पीएमओ ने स्पष्ट किया कि उनकी टिप्पणियों को भारतीय सशस्त्र बलों की बहादुरी के परिणामस्वरूप स्थिति से संबंधित है. इसमें कहा गया है कि 16 बिहार रेजिमेंट के सैनिकों ने एलएसी के भारतीय हिस्से पर योजना को खड़ा करने के चीनी प्रयास को नाकाम कर दिया था. पीएमओ ने कहा कि केंद्र सरकार एलएसी के एकतरफा बदलाव की अनुमति नहीं देगी.

लद्दाख सीमा पर भारतीय जवानो के संघर्ष की वीडियो हो रही वायरल, देखे कैसे भगाए चीनी

प्रवासी मजदूरों के लिए मोदी जी ने शुरू की ‘गरीब कल्याण रोजगार अभियान’ सेवा, जाने…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *