प्रवासी मजदूरों के लिए मोदी जी ने शुरू की ‘गरीब कल्याण रोजगार अभियान’ सेवा, जाने…

प्रवासी मजदूरों के लिए मोदी जी ने शुरू की ‘गरीब कल्याण रोजगार अभियान’ सेवा, जाने...

गरीब कल्याण रोजगार अभियान योजना: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 20 जून 2020 शनिवार को प्रवासी श्रमिकों के लिए एक रोजगार योजना शुरू की है. जिसमें कहा गया था कि कोरोनवायरस (COVID-19) के दौरान शहरों से चमक(प्रतिभा) गांवों में लौट आई है और यह अब ग्रामीण क्षेत्रों में विकास को बढ़ावा देगी.

गांवो में शुरू होगी ‘गरीब कल्याण रोजगार अभियान’ शुरू

“गरीब कल्याण रोज़गार अभियान”(Garib Kalyan Rojgar Abhiyan) की शुरुआत करते हुए, श्री मोदी ने कहा कि कुछ लोग हैं जो कोरोनोवायरस के खिलाफ लड़ाई में ग्रामीणों के प्रयासों की सराहना नहीं कर सकते हैं. लेकिन हम उनके प्रयासों के लिए उनकी सराहना करते हैं. मोदी जी ने आगे कहा कि जिस तरह से गांवों ने कोरोनोवायरस से लड़ाई लड़ी है उस तरह से उन्होंने शहरों को एक बड़ा सबक सिखाया है.

उन्होंने आगे कहा कि लॉकडाउन के दौरान शहरों से गाँव में प्रतिभाएं वापस लौट आईं है जिनके श्रम और कौशल शहरों की तेजी से वृद्धि में पीछे थे. अब इस योजना की मदद से गांवों का विकास होगा.

लॉकडाउन के दौरान प्रवासी श्रमिक हमेशा से ही केंद्र सरकार के विचारों में थे. प्रधानमंत्री ने कहा कि यह उनकी सरकार का प्रयास है कि श्रमिकों को उनके घर के पास नौकरी मिले और गांवों के विकास में मदद मिले.

इस योजना की मदद से गाँवों के बुनियादी ढांचे के विकास के बारे में बात करते हुए. श्री मोदी ने कहा कि पहली बार शहरों की तुलना में गाँवों में इंटरनेट का अधिक उपयोग किया जा रहा था और अब इंटरनेट की गति बढ़ाने के लिए काम किया जा रहा है. जिससे गाँव के लोगो को डिजिटली और ज्यादा सीखने को मिले.

अपने भाषण की शुरुआत में श्री मोदी ने पूर्वी लद्दाख में LAC में एक हिंसक झड़प में जान गंवाने वाले बिहार रेजिमेंट के सैनिकों को श्रद्धांजलि दी. इस हिंसक झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे. इसके साथ ही भारत के जवानो ने चीन के 40 सैनिको को मार गिराया.

पांच राज्यों बिहार, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, झारखंड और ओडिशा के मुख्यमंत्रियों की मौजूदगी में बिहार के कटिहार गाँव में वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से श्री मोदी जी द्वारा “गरीब कल्याण रोज़गार अभियान की शुरुआत की गई है.

दिल्ली के मंत्री सत्येंद्र जैन की तबीयत अचानक हुई खराब, ऑक्सीजन सपोर्ट के लिए गए थे अस्पताल

भारत बनाम चीन: भारतीय वायुसेना प्रमुख भदौरिया ने कहा- गालवान घाटी में सैनिकों का बलिदान बेकार नहीं जाएगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *