पाकिस्तानी सेना ने भारतीय सेना की पेट्रोलिंग टीम के 5 लोगों दिया था मार, फिर 240 पाकिस्तानी सैनिकों ने दबाई थी दुम

पाकिस्तानी सेना ने भारतीय सेना की पेट्रोलिंग टीम के 5 लोगों दिया था मार, फिर 240 पाकिस्तानी सैनिकों ने दबाई थी दुम

कारगिल युद्ध को इस समय 20 साल का समय बीत गया है. इसके साथ ही भारतीय सेना ने इस युद्ध में विजय हासिल की थी. जिसके बाद कारगिल के युद्ध को ऑपरेशन विजय के नाम से भी जाना जाता है. इस दौरान पाकिस्तान और कश्मीरी उग्रवादियों ने भारत और पाकिस्तान के बीच पड़ने वाले नियंत्रण रेखा पर कब्जा कर लिया था. जिसमें पाकिस्तान दावा कर रहा था कि वह सभी कश्मीरी उग्रवादी है. लेकिन बाद में धीरे-धीरे उनका यह दावा खोखला होता गया और उसमें पाकिस्तानी सैनिकों की जानकारी भी मिली. इस दौरान पाकिस्तानी सैनिकों व उग्रवादियों सहित 5000 घुसपैठिए शामिल थे वही इस युद्ध के दौरान 30,000 भारतीय सैनिक युद्ध भूमि पर थे. 

कारगिल पर घुसपैठियों के कब्जा करने की सूचना एक चरवाहे ने भारतीय सेना को दी थी. जिसके बात भारतीय सेना की पेट्रोलिंग टीम जानकारी लेने के लिए कारगिल पहुंची थी. जहां पर पाकिस्तानी सेना ने उन्हें पकड़ कर उनमें से 5 सेना के जवानों की हत्या कर दी थी. इसी बीच गोलाबारी के दौरान पाकिस्तानी सेना ने भारतीय सेना के गोला बारूद के स्टोर को नष्ट कर दिया था. जिसके बाद भारतीय वायु सेना ने mig-27 और मिग 29 की मदद से पाकिस्तानी सेना को मुंह तोड़ जवाब दिया था. 

इन्हें भी पढ़े- Kargil Vijay Diwas 2020: हिंदुस्तान के इस बहादुर से डरता था पाकिस्तान, खौफ की वजह से नाम दिया था ‘चुड़ैल’

Kargil Vijay Diwas 2020: रूस के इस बड़े हथियार ने कारगिल युद्ध में निभाई थी भूमिका, पाकिस्तानी सेना ने दिया था चुड़ैल नाम

भारत के जवानों और वायु सेना के द्वारा उस समय 250000 गोले दागे गए थे. जिसमें रॉकटो. 5000 फायर बम. 3000 ज्यादा मोर्टार का इस्तेमाल किया गया था. युद्ध के उन 17 दिनों में हर मिनट में एक राउंड फायर किया जा रहा था. इस युद्ध के दौरान भारत के 527 वीर योद्धा शहीद हुए थे और वही 1300 जवान घायल हुए थे. लेकिन इसी दौरान पाकिस्तान के 2600 पाकिस्तानी सैनिक मारे गए थे. जबकि 240 पाकिस्तानी सैनिक दुम दबाकर मैदान छोड़कर भाग गए थे. 

उस समय माना जाता है कि दो हजार से ज्यादा उग्रवादियों को ढेर किया गया था. इस युद्ध के बाद भारतीय सरकार ने रक्षा बजट को और ज्यादा बढ़ा दिया था. इस युद्ध के बाद प्रेरणा लेते हुए बॉलीवुड में एलओसी कारगिल, धूप और लक्ष्य जैसी बड़ी फिल्में बनी थी. वही इस युद्ध के बाद भारतीय युवाओं के बीच देश प्रेम के लिए उबाल देखने को मिला था. वही भारत की अर्थव्यवस्था को भी मजबूती मिलनी शुरू हो गई थी. 

1999 में हुए कारगिल युद्ध में भारतीय सेना द्वारा दिखाए गए दमखम के बारे में आपकी क्या राय है ? कमेंट में बताएं. आप लोगों को कारगिल विजय दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं. 

अगर आपको भी चल रही है धन, नौकरी व संतान की कमी, तो इस नाग पंचमी पर होगी सभी समस्या दूर

इस बड़े राज्य लगा 10 दिनों का लॉकडाउन, जाने…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *