Makar Sankranti: चाइना डोर से हो सकता है आपकी जान को खतरा, जाने

Makar Sankranti: चाइना डोर से हो सकता है आपकी जान को खतरा, जाने

15 फ़रवरी को मकर सक्रांति से पूरे देश में मनाने के लिए तैयारियां शुरू हो चुकी है। इसके साथ ही इस दिन पतंग उड़ाकर इस त्यौहार को मनाया जाता है। जिसकी चहल पहल बड़े शहरो में उडती हुई पतंगो से पता चलती है। पतंग को उड़ाने के लिए बच्चे धारदार व तेज मांझे का इस्तेमाल करते है। जिससे बच्चो के जख्मी या पक्षियों के मरने का खतरा बढ़ जाता है। इसकी सबसे बड़ी वजह चाइनीज मांझा होता है।

5. चाइनीज मांझे को बनाने में कांच का प्रयोग भरपूर मात्रा में किया जाता है। जिससे यह आपके हाथ के साथ ही शरीर को भीनुकसान पहुंचा सकता है।

4. चाइनीज मांझे को बनाने में भड़कीले रंगों का इस्तेमाल किया जाता है जिससे बच्चे उसे खरीदे। इनमे से लाल मांझे के रंग तो कीटो को मारने के बाद बनता है। जिसे आप इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

3. पतंग उड़ाने के लिए आप सादे मांझे का इस्तेमाल भी कर सकते है जो चाइनीज मांझे की अपेक्षा सस्ता होता है। जिससे आपको नुकसान न के बराबर है।

2. मकर सक्रांति के दिन पतंग हंसी ख़ुशी के लिए उड़ाई जाती है. लेकिन अगर इस दिन आपके मांझे में आकर कोई पक्षी मर जाता है तो वह ख़ुशी किसी काम की नहीं और इससे आपको पाप भी लगता है.

1. अगर बच्चे चाइनीज मांझे को मुंह में डालते है या दांतों से काटते है तो उससे बच्चे की जान को खतरा तक हो सकता है।

इस साल जितना हो सके चाइनीज मांझे का इस्तेमाल न करे इसके साथ ही देश में बनने वाले मांझे का ही प्रयोग करे। इससे आपका एक कदम इस मकर सक्रांति को देश की प्रगति की और होगा।

Happy Lohri 2021: क्या है लोहड़ी ? भारत मे क्यों मनाया जाता है यह त्यौहार, जाने इसके महत्व व कारण

Makar Sankranti 2021: लंबे समय बाद रहा शुभ योग, यह काम कर आप भी हो जाएँगे अमीर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *