Kargil Vijay Diwas 2020: रूस के इस बड़े हथियार ने कारगिल युद्ध में निभाई थी भूमिका, पाकिस्तानी सेना ने दिया था चुड़ैल नाम

Kargil Vijay Diwas 2020: कारगिल विश्व युद्ध को 20 साल हो चुके हैं. इसके साथ ही भारतीय सेना ने पाकिस्तानी सैनिकों को मुंह तोड़ जवाब दिया था. लेकिन इसी बीच भारतीय वायु सेना के लड़ाकू विमान mig-27 ने पाकिस्तानी सेना को पूरी तरह से खत्म कर दिया था. कारगिल के ऊंची चोटी पर होने के बावजूद पाकिस्तानी सेना का यह सोचना था कि भारतीय वायु सेना ऊपर से हमला नहीं करेगी. लेकिन भारतीय वायुसेना ने अपना दम दिखाते हुए mig-27 लड़ाकू विमान की सहायता से पाकिस्तानी सैनिकों पर सटीक निशाना साधते हुए उनके पैर उखाड़ दिए थे. इस लड़ाकू विमान को रूस से खरीदा गया था.

उस समय भारतीय वायु सेना ने पाकिस्तान के साथ कारगिल युद्ध में mig-27 को ‘बहादुर’ का नाम दिया था. बहादुर पृथ्वी की सतह से आसमान में उड़ान भरते समय किसी भी सेटेलाइट में नहीं आता था. इसके साथ ही भारतीय वायु सेना के बहादुर की आवाज से पाकिस्तानी सैनिकों के हौसले पस्त हो जाते थे. बहादुर की आवाज सुनने के बाद पाकिस्तानी सैनिक खौफ खाते थे. जिसकी वजह से वह दूर दूर तक भी नहीं दिखाई देते थे. पाकिस्तान को mig-27 का इतना ज्यादा खतरा था कि वह अपने लड़ाकू विमान भी उड़ाने में कतराते थे. 

बहादुर ने भारतीय सेना में लगभग 27 साल का सफर तय किया है. इस दौरान बहादुर द्वारा सेना को बेहतरीन सपोर्ट देखने को मिला है. Mig-27 भारतीय वायु सेना का एक ऐसा जहाज है. जिसने कभी भी वायु सेना को निराश नहीं किया है. इसके साथ ही भारतीय वायुसेना आज भी mig-27 की तारीफ करते नहीं थकते है. Mig-27 हवा में 1700 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से 4000 किलो विस्फोटक ले जाने में सक्षम था. बहादुर के खूब को देखते हुए पाकिस्तानी सेना ने बहादुर का नाम चुड़ैल रख दिया था. 

25 जुलाई को मनाई जा रही है नाग पंचमी, जीवित सांप की जगह इस तरह करें सांप की पूजा

अगर आपको भी चल रही है धन, नौकरी व संतान की कमी, तो इस नाग पंचमी पर होगी सभी समस्या दूर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top