जगन्नाथ रथ यात्रा: 700 मंदिर पुजारियों का होगा कोविड-19 परीक्षण, फिर इन शर्तो के साथ शुरू होगी रथ यात्रा

जगन्नाथ रथ यात्रा: 700 मंदिर पुजारियों का होगा कोविड-19 परीक्षण, फिर इन शर्तो के साथ शुरू होगी रथ यात्रा

भारत में सबसे बड़े धार्मिक त्योहार जगन्नाथ रथ यात्रा मंगलवार को ओडिशा के एक मंदिर से शुरू होगी यह रथ यात्रा शहर में कोरोनावायरस महामारी के बीच होगी. जिसकी वजह से इसे शुरू करने के लिए कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था.

जगन्नाथ पुरी रथ यात्रा के दौरान पूरे भारत देश से लाखों श्रद्धालु और भगत जुटते हैं. लेकिन इस साल कोरोनावायरस के चलते श्रद्धालुओं की ज्यादा भीड़ इकट्ठा करने से मना कर दी है. वही पूरी में कर्फ्यू लगने सहित कई शर्ते रखी है जिसके बाद ही रथ यात्रा को अनुमति मिलेगी. 

हम आपकी जानकारी के लिए बता दे कि मुख्य न्यायधीश एसए बॉबडे की अध्यक्षता वाली तीन न्यायाधीशों की पीठ ने फैसला किया है कि प्रत्येक रथ को 500 से अधिक लोग ही खींचेगे जिसमें पुलिस और आला अधिकारी भी शामिल होगे. रथ यात्रा को खींचने के दौरान इसके बीच एक घंटे का समय अंतराल होना चाहिए. 

ओडिशा सरकार ने मंदिर शहर में 41 घंटे से ज्यादा के लिए कर्फ्यू लगा दिया है. वही उन 700 पुजारियों का कोविड-19 परीक्षण किया जा रहा है. जो तीनों रथों को खींचने का काम करेंगे. इसके साथ ही यह अनुष्ठान जगन्नाथ मंदिर के अंदर सुबह 3:00 बजे से शुरू होगा. वही कुछ मीडिया रिपोर्ट के अनुसार यह रथयात्रा पूरे देश में लाइव दिखाई जाएगी जिसे आप बड़ी ही आसानी से टीवी पर देख सकते हैं. 

भारत-चीन: रूस बढ़ रहे तनाव को कम करने के लिए उठाएगा बड़े कदम

प्रवासी मजदूरों के लिए मोदी जी ने शुरू की ‘गरीब कल्याण रोजगार अभियान’ सेवा, जाने…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *