भारतीय टीम ने दूसरा टेस्ट जीता, लेकिन 132 वर्षों में सहा सबसे बड़ा अपमान

भारतीय टीम ने दूसरा टेस्ट जीता, लेकिन 132 वर्षों में सहा सबसे बड़ा अपमान

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार मैचों की बॉर्डर-गावस्कर टेस्ट सीरीज खेली जा रही है। सीरीज के पहले दो मैच बीत चुके हैं। दोनों टीमों ने एक-एक मैच जीता है। इसलिए सीरीज अभी है। दोनों ही टीमें दोनों मैचों में बड़े स्कोर बनाने में नाकाम रही हैं। यह इस तथ्य से माना जा सकता है कि पिछले 132 वर्षों में, प्रति विकेट ऑस्ट्रेलियाई औसत सबसे कम रहा है।

भारत की पहली टेस्ट की दूसरी पारी सिर्फ 36 रनों पर समाप्त हो गई। भारतीय टीम एडिलेड में पहला टेस्ट हार गई। इस ऑस्ट्रेलियाई गर्मियों में प्रति विकेट औसत रन बहुत कम रहा है।

इस सीजन में, प्रति विकेट औसत रन 21.50 रहा है। इससे पहले, 132 साल पहले, वर्ष 1887-88 में, ऑस्ट्रेलियाई गर्मियों में प्रति विकेट औसत रन कम था। उस समय, प्रति विकेटों का औसत केवल 9.35 था। वहीं, अब प्रति विकेट औसत रन 21.50 है। जब पाकिस्तान और न्यूजीलैंड ने पिछली गर्मियों में ऑस्ट्रेलिया का दौरा किया, तो औसत 34.01 प्रति विकेट था।

जब भारत ने दो साल पहले ऑस्ट्रेलिया का दौरा किया था, तब औसत 30.03 प्रति विकेट था। परिणामस्वरूप, क्रिकेट डॉट कॉम की एक रिपोर्ट के अनुसार, रन रेट में भी भारी गिरावट आई है। यह 2.63 पर इस सदी की किसी भी गर्मी की सबसे कम रन दर है।

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार मैचों की श्रृंखला का तीसरा टेस्ट 7 जनवरी से खेला जाएगा। मैच सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में खेला जाएगा। भारत के प्रमुख बल्लेबाज रोहित शर्मा मैच के लिए उपलब्ध रहेंगे।

ऑस्ट्रेलिया दूसरे टेस्ट की पहली पारी में 195 रन पर ऑल आउट हो गई। जवाब में, भारत ने पहली पारी में 326 रन बनाए। इसके बाद ऑस्ट्रेलिया ने दूसरी पारी में 200 रन बनाए। भारतीय टीम को जीत के लिए 70 रनों का लक्ष्य भी दिया गया था। भारतीय टीम ने अपनी दूसरी पारी में 2 विकेट खोकर पूरा कर लिया। उन्होंने यह मैच 8 विकेट से भी जीता।

भारतीय टीम के लिए टेस्ट क्रिकेट में टॉप पर पहुँचने का मौका, करना होगा यह काम

भारत के ये टॉप 5 खिलाड़ी इतिहास रचने के लिए तैयार, शुभमन गिल जैसे नए खिलाड़ियो का नाम शामिल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *