Independence day 2020: 74 वें स्वतंत्रता दिवस को मनाने से पहले जान ले उसका इतिहास

200 वर्षों तक, भारतीयों को 1757 में ब्रिटिश शासक का मुक़ाबला करना पड़ा था इस दौरान अंग्रेज़ो ने भारत पर बड़ी क्रूरता से राज किया था। देश पर उनका नियंत्रण प्लासी के युद्ध में इंग्लिश ईस्ट इंडिया कंपनी की जीत से प्राप्त हुआ था। भारत से अंग्रेज़ो को निकालने मे देश के लिए कई बड़े देश भक्तो ने अपनी जान देश के लिए कुर्बान की थी।

भारतीय इतिहास प्रतिशोध और विद्रोह की प्रसिद्ध घटनाओं से छुटकारा दिलाता है जिसने अंततः अंग्रेजों को निकाल दिया और पूर्व वायसराय लॉर्ड माउंटबेटन को 15 अगस्त, 1947(Independence day 2020) को भारतीयों को सत्ता हस्तांतरित करने के लिए जनादेश देने के बाद भारत को स्वतंत्र करने के लिए मजबूर कर दिया था। इस दिन ने ब्रिटिश शासित भारत के विभाजन को दो देशों, भारत और पाकिस्तान में भी चिह्नित किया था।

अंग्रेज अपनी फूट डालो और राज करो की नीति से सफल हुए जिसके कारण मुसलमानों और हिंदुओं के बीच हिंसा हुई। इस अशांति के कारण, 14 अगस्त, 1947 को हिंसक दंगों, सामूहिक हताहतों और लगभग 15 मिलियन लोगों के विस्थापन के बाद एक अलग देश का गठन किया गया था। इसके साथ ही अभ भी देश के नेता इस नीति पर चल रहे है। जिसके बारे मे हमें पता होना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top