गोविंदा का बेटा कार दुर्घटना में बाल-बाल बचा, गोविंदा ने कहा ऐसा पहली बार नहीं हुआ

गोविंदा का बेटा यशवर्धन पिछले बुधवार शाम एक कार दुर्घटना मामूली रूप से घायल हो गया था इस दुर्घटना के दौरान उन्होंने सीट बेल्ट पहनी थी जिसकी वजह से वह बाल-बाल बच गए. यह पहली बार नहीं है जब यशवर्धन कार दुर्घटना में हुए हैं. 2005 में गोविंदा का लड़का अपनी माँ और बहन के साथ एक कार दुर्घटना में घायल हो गया था. जहाँ वे लगभग अपनी जान गँवा चुके थे. गोविंदा की पत्नी और दो बच्चे अनहोनी से बच गए थे. हालांकि उस दौरान उनकी कार 3 बार पलटी थी.

उस समय गोविंदा ने एक इन्टरव्यू के दौरान कहा था कि, “मुझे नहीं पता कि उनके जीवन को कैसे बिताया गयाबी. भगवान का चमत्कार था.लेकिन मैंने एक प्रिय मित्र को दुर्घटना में खो दिया था. मैंने अपने परिवार की सुरक्षा के लिए कम से कम 20-25 यज्ञ किए हैं. मैं आशीर्वाद लेने के लिए कई मंदिरों और दरगाह पर गया हूं.कंही न कहीं बड़े-बुजुर्गो का आशीर्वाद काम आ गया. यह भी गुजर जाएगा.  मेरी मां का आशीर्वाद मेरे साथ है. मैं प्रतिदिन लगभग चार घंटे प्रार्थना पर बिताता हूं. मेरे पास अपनी सुरक्षा करने का कोई दूसरा साधन नहीं है. यह मेरे परिवार का प्यार है जो मेरी रक्षा कर रहा है. मुझे उनकी रक्षा करने की चिंता है.”

गोविंदा ने स्वीकार किया कि जीवन उनके लिए निर्दयी था.“एक वर्ष में मेरे परिवार के अन्य दस सदस्यों की मृत्यु हो गई. यह काफी ज्यादा भयावह है. लेकिन क्या करता ? मुझे इसका सामना करना पड़ेगा.”

दबंग 3 का अभिनेता आखिर क्यों है सब्जी बेचने को मजबूर, जाने पूरी जानकारी

टिकटॉक बैन होने पर मलाइका अरोड़ा ने कहा, ‘मैंने लॉकडाउन में सबसे अच्छी खबर सुनी’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top