Gandhi Jayanti Special: महात्मा गांधीजी के बारे में ये बाते नहीं जानते होगे आप

Gandhi Jayanti Special: हम सभी जानते हैं कि गांधी जयंती 2 अक्टूबर को मनाई जाती है। भारत में, कुछ लोग उन्हें बापू कहते हैं, कुछ अहिंसा के पुजारी महात्मा गांधी आज भी, राष्ट्रपिता के रूप में, वह दुनिया भर में प्रसिद्ध हैं। उन्हें उनके अहिंसात्मक आचरण और उनकी प्रतिबद्धता के लिए याद किया जाता है। गांधीजी ने अपने जीवन में 16 आदर्शों को महत्व दिया है, जिनमें से उन्होंने 3 महत्वपूर्ण स्रोतों को सबसे अधिक महत्व दिया है।

पहला सूत्र सामाजिक गंदगी को दूर करने के लिए झाड़ू का उपयोग है। दूसरा सूत्र सामूहिक प्रार्थना को मजबूत करना है, ताकि लोग जाति और धर्म के प्रतिबंधों को दरकिनार कर एक साथ प्रार्थना कर सकें। तीसरा और अंतिम सूत्र चरखा है। इसे आत्मनिर्भर और एकता का प्रतीक माना जाता था।

गांधी जी ने स्वतंत्रता संग्राम में शामिल हर व्यक्ति से बात की थी। गांधीजी ने भगवान महावीर के बताए मार्ग पर चलकर अपने जीवन में त्याग रखा और एक साधारण जीवन के साथ-साथ न्यूनतम जीवन व्यतीत किया। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी हमेशा नए प्रशिक्षण को जानने और अपनाने के समर्थन में थे। इसी बल पर वह स्वतंत्रता संग्राम में सफल हुए। गांधी जी द्वारा शाकाहारी भोजन को उनके जीवन का अभिन्न अंग बनाया गया था। महात्मा गांधी हर धर्म और जाति से जुड़े थे। सभी धर्मों में उनकी विशेष आस्था थी।

गांधीजी ने सत्य के मार्ग पर चलकर सत्याग्रह की नींव रखी। उनके जीवन में कई मुश्किल क्षण आए लेकिन उन्होंने कभी सच्चाई नहीं छोड़ी। हमने गांधी के आदर्शों को अब तक किताबों में पढ़ा है, टीवी पर देखा और दूसरों से सुना, लेकिन समय एक बार फिर बदल गया है और एक बार हजारे ने महात्मा गांधी के उन आदर्शों को दोहराया, सभी भारतीय अपने हाथों में तिरंगा धारण करेंगे और फिर महात्मा गांधी के नक्शेकदम पर चले।

Anganwadi Recruitment 2020: आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और आंगनवाड़ी हेल्पर के लिए निकले पद, महिलाओ के लिए बड़ा मौका

SSB Constable Recruitment 2020: 10वीं पास सभी के लिए बड़ा मौका, ₹69,100 तक मिलेगा वेतन

Back to top