सुशांत सिंह राजपूत की मौत को लेकर रिया के बाद ईडी ने सिद्धार्थ पिठानी को बुलाया, पहले ही बदल चुका है अपना बयान

सुशांत सिंह राजपूत की मौत

14 जून को सुशांत सिंह राजपूत ने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी थी। सुशांत के इस कदम के बाद पूरा देश हैरान रह गया था। सुशांत सिंह राजपूत की मौत का मामला अब सीबीआई के पास चला गया है और जांच शुरू हो गई है। अब, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने दिवंगत अभिनेता के रचनात्मक सामग्री प्रबंधक सिद्धार्थ पिठानी से बातचीत कर रही है।

सिद्धार्थ पिठानी सिर्फ एक सहयोगी ही नहीं बल्कि सुशांत के फ्लैटमेट भी थे। उन्होंने पहले से चल रहे मामले के बारे में मुंबई पुलिस को अपना बयान दर्ज किया और आईपीएस अधिकारी सुशांत के बहनोई ओपी सिंह और उनके बीच हुई बातचीत के कुछ स्क्रीनशॉट दिये। इसके साथ ही हम आपकी जानकारी के लिए बता दे कि सुशांत के केस में सिद्धार्थ पिठानी अपने शुरुआती बयान से बदले है।

इससे पहले, ईडी ने सैमुअल मिरांडा और सुशांत के चार्टर्ड अकाउंटेंट संदीप श्रीधर को तलब किया था। सिद्धार्थ पिठानी के अनुसार सुशांत के पिता व घरवालो ने उसपर रिया के खिलाफ बयान देने के लिए कहा था।

मनी लॉन्ड्रिंग केस के सिलसिले में तलब किए जाने के बाद 7 अगस्त को रिया चक्रवर्ती ईडी के सामने पेश हुईं। रिया चक्रवर्ती के वकील सतीश मनेशिंदे ने कहा कि वह कानून का पालन करने वाली नागरिक हैं। चूंकि ED ने मीडिया को सूचित किया कि उपस्थिति को स्थगित करने के अनुरोध को अस्वीकार कर दिया गया था, वह नियत समय और तिथि पर उपस्थित हुई।

केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने 6 अगस्त को सुशांत सिंह राजपूत की प्रेमिका रिया चक्रवर्ती सहित छह लोगों के खिलाफ एफ़आईआर दर्ज की है। एफआईआर में नामित अन्य लोग रिया के भाई शोविक चक्रवर्ती, पिता इंद्रजीत चक्रवर्ती, मां संध्या चक्रवर्ती, सुशांत के गृह प्रबंधक सैमुअल मिरांडा और श्रुति मोदी हैं। उनमें से छह के खिलाफ लगाए गए आरोप आत्महत्या, आपराधिक साजिश, चोरी, धोखाधड़ी, धमकी, गलत संयम, या अन्य लोगों के बीच अपमानजनक हैं।

सुशांत सिंह राजपूत की मौत को लेकर आदित्य ठाकरे ने दिया बयान कहा- इस घटना से नहीं है मेरा कोई संबंध

बड़ी ख़बर: सुशांत की मौत को लेकर यूके की टीम करेगी इंवेस्टिगेशन, अपराधियो पर कसा जाएगा शिकंजा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *