भूलकर भी न खाएं ये आहार, वरना हो जाएगा प्रेगनेंसी…

भूलकर भी न खाएं ये आहार, वरना हो जाएगा प्रेगनेंसी...

प्रेगनेंसी के दौरान हर महिला को अपने स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान देना चाहिए। सबसे महत्वपूर्ण बात, अगर आप अपने खाने-पीने का थोड़ा भी खर्च करते हैं, तो आपको भारी भरकम रकम चुकानी होगी। तो आइए जानें आहार के बारे में जिससे आपको गर्भपात हो सकता है-

इसमें मिनरल्स, कैल्शियम, फाइबर, फ्लेवोनोइड्स और कैरोटेनॉयड्स होते हैं जो कोलन कैंसर से बचाते हैं। लेकिन प्र्ग्वेंसी के दौरान महिलाओं को पपीता नहीं खाना चाहिए। गर्भधारण का कारण गर्भपात का कारण है कि इसका प्रभाव गर्म है।

प्रेगनेंसी के दौरान बहुत अधिक नमक न खाएं। इसे खाने से एक महिला का रक्तचाप स्तर बढ़ जाता है, जिससे गर्भपात हो सकता है। बहुत अधिक नमक खाने से हाथ, पैर और चेहरे में सूजन भी बढ़ सकती है।

पोषक तत्वों की सही मात्रा बच्चे को बढ़ने और माँ के स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद कर सकती है। विटामिन और खनिज बच्चे की वृद्धि में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। किसी भी विटामिन या खनिज की कमी माँ और बच्चे को बीमार कर सकती है।

आइए प्रेगनेंसी के दौरान विटामिन और खनिजों के महत्व को समझें।

विटामिन ए, सी, डी, ई और बी-कॉम्प्लेक्स जरूरी विटामिन और खनिज हैं जो प्रेग्वेंसी के दौरान शरीर में विभिन्न कार्यों को बनाए रखने के लिए आवश्यक हैं जैसे कि कैल्शियम, लोहा और फोलिक एसिड।

विटामिन ए।

विटामिन ए दो प्रकार के होते हैं – एक रेटिनॉल नामक जानवर से प्राप्त होता है और दूसरा फलों और सब्जियों या पौधों के स्रोतों से प्राप्त होता है, जिसे कैरोटीनॉयड कहा जाता है। भ्रूण के चरण के दौरान बच्चे के विकास के लिए विटामिन ए महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह हृदय, फेफड़े, गुर्दे, श्वसन प्रणाली, संचार प्रणाली और केंद्रीय तंत्रिका तंत्र को विकसित करता है। यह बच्चों को संक्रमण के प्रतिरोध को विकसित करने और दृष्टि विकसित करने में मदद करता है।

Hindi Diwas 2020: सच्चा भारतीय होने के साथ आपको पता होना चाहिए इसका इतिहास व महत्व

Hindi Diwas 2020 Date: जाने क्यों मनाया जाता है हिन्दी दिवस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *