CBI सुशांत सिंह राजपूत के पिता केके सिंह रिकॉर्ड करने के लिए दर्ज किए रिया चक्रवर्ती पर लगे आरोप

रिया चक्रवर्ती का दावा मीडिया ट्रायल ने उन्हे बना दिया है 'बलि का बकरा', सुप्रीम कोर्ट में दी फिर याचिका

दिवंगत बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत का मामला अब लगातार बढ़ता जा रहा है। जैसा कि कानूनी कार्यवाही जारी है, केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) सुशांत के पिता कृष्ण कुमार सिंह का बयान दर्ज करेगी। वे उसकी बहनों के बयान भी दर्ज करेंगे। अब तक केके सिंह हरियाणा के फरीदाबाद में रह रहे हैं। इसके साथ ही अब इस मामले मे कहीं न कहीं राजनीति रंग भी दिखने लगा है। इसके साथ ही महाराष्ट्र पुलिस इस केस मे सीबीआई जांच के पूरी तरह से खिलाफ है। इसके लिए उद्धव ठाकरे सरकार ने सीबीआई के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट मे हलफनामा भी दिया है।

केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने 6 अगस्त को रिया चक्रवर्ती, रिया के भाई शोविक चक्रवर्ती, पिता इंद्रजीत चक्रवर्ती, मां संध्या चक्रवर्ती, गृह प्रबंधक सैमुअल मिरांडा, और श्रुति मोदी सहित छह लोगों के खिलाफ एफ़आईआर दर्ज की है। उनमें से छह के खिलाफ लगाए गए आरोपों में आत्महत्या, आपराधिक साजिश, चोरी, धोखाधड़ी, धमकी, गलत संयम, या अन्य लोगों के बीच प्रतिबंध हैं।

महाराष्ट्र सरकार ने बिहार सरकार के अनुरोध पर रिया चक्रवर्ती के खिलाफ दर्ज सीबीआई मामले का विरोध करते हुए सुप्रीम कोर्ट में एक हलफनामा दायर किया है। बांद्रा पुलिस स्टेशन के इंस्पेक्टर भूषण बेलनेकर ने 8 अगस्त को हलफनामा दायर किया है।

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में सुप्रीम कोर्ट 11 अगस्त को रिया चक्रवर्ती की याचिका पर सुनवाई करेगा। अदालत ने 18 अगस्त की तारीख तय की थी लेकिन अब इसके बदले 11 अगस्त को सुनवाई होगी। अपनी याचिका में, रिया ने कथित तौर पर कहा था कि अगर बिहार पुलिस मामले की जांच करती है तो मुकदमा उचित नहीं होगा।

7 अगस्त को आठ घंटे से अधिक समय तक ग्रिल किए जाने के बाद 10 अगस्त को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा पूछताछ के लिए उसे फिर से बुलाया गया। यह मनी लॉन्ड्रिंग केस के सिलसिले में था जहां सुशांत के परिवार ने आरोप लगाया कि रिया व उसके परिवार ने सुशांत से 15 करोड़ रुपये का गबन किया है।

‘आपदा को अवसर मे बदल डाला’ युजवेंद्र चहल की शादी को लेकर सहवाग ने किया मजाक, कर डाला मोदी जी का मीम्स शेयर

सुशांत सुसाइड केस: ठाकरे सरकार ने CBI के खिलाफ दायर किया हलफनामा, CBI के खिलाफ रिया…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *