Bakrid 2020: जाने कब है बकरीद, भारत में कब मनाई जाएगी बकरीद

Bakrid 2020: इस बड़ी वजह से दी जाती है बकरे की कुर्बानी, जाने इस पर्व का महत्व

Bakrid 2020: भारत में ईद-उल-अजहा यानी बकरीद का त्यौहार 31 जुलाई को मनाया जाना था। लेकिन वही डॉक्टर मुफ्ती मोहम्मद मुकर्रम ने मंगलवार को ऐलान किया कि अभी चांद नहीं दिखा है। इसकी वजह से ही ईद उल अजहा यानी बकरीद(Bakrid 2020) 1 अगस्त को मनाया जाएगा। बकरीद का त्यौहार मुसलमानों के लिए उनके सबसे खास त्यौहारों में से एक होता है

क्यों दी जाती है इस दिन बकरे की कुर्बानी

हम आपकी जानकारी के लिए बता देगी बकरीद का महीना इस्लामिक कैलेंडर के अनुसार आखरी महीना होता है। इसी वजह से इस महीने की 10 तारीख को यह त्योहार मनाया जाता है। लेकिन इसकी कहानी इस्लामिक पैगंबर इब्राहिम अलैहिस्सलाम के समय से चली आ रही है। बकरे की कुर्बानी की परंपरा भी उसी समय से चली आ रही है।

क्या कहता है इस्लामिक इतिहास

इस्लामिक इतिहास के अनुसार अल्लाह ने एक बार इब्राहिम अलैहिस्सलाम के ख्वाब में आकर उनसे उनकी सबसे प्यारी चीज कुर्बान करने के लिए कहा था। उनकी सबसे प्यारी चीज उनका इकलौता बेटा था। लेकिन अल्लाह के हुक्म के आगे वह अपने सबसे करीबी और प्यारी चीज को कुर्बान करने के लिए तैयार थे। इब्राहिम अलैहिस्सलाम ने अपने दिल पर काबू करके अपने बेटे को कुर्बान करने के लिए चल दिए। रास्ते में उन्हें शैतान मिला जो उन्हें सोचने को कहने लगा कि वह क्या करने जा रहे हैं? इब्राहिम शैतान की इस बात को सुनकर सोच में पड़ गए। लेकिन उन्हें थोड़ी देर बाद याद आया कि उन्हें अल्लाह से वादा किया है। जिसके बाद वह बेटे को कुर्बान करने के लिए चल दिये. जिस समय इब्राहिम अपने बेटे को कुर्बान करने के लिए तलवार उठा रहे थे। उस समय अल्लाह ने उनके बेटे की जगह बकरी का बच्चा रख दिया उसी समय से बकरीद की परंपरा चली आ रही है।

OMG; भारत हुई 14 लाख के पार लोगो की पुष्टी PM ने कही यह बड़ी बात जाने पूरी खबर…

इस्लाम अंग ट्रांसप्लांट के खिलाफ नहीं बोलता, जाने…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *