5 जून को लगने जा रहा है चंद्रग्रहण, जाने कोरोनावायरस पर क्या रहेगा इसका प्रभाव

इस साल 5 जून को 2020 का दूसरा चंद्रग्रहण लगने वाला है. इसके साथ ही यह ग्रहण एक उपच्छाया ग्रहण होगा. जबकि ज्योतिषी शास्त्र में वैसे तो इस ग्रहण नहीं माना जाता. लेकिन इस उपच्छाया ग्रहण का सूतक भी माननीय नहीं होता है वही ज्योतिषी शास्त्रों के अनुसार इस वक्त उपच्छाया ग्रहण कोरोनावायरस समय में लगने की वजह से बेहद महत्वपूर्ण होने वाला है तो आइए जानते हैं इसके बारे में विस्तार से

इस साल लगने वाला यह ग्रहण 5 जून को लगेगा जो रात्रि 11:16 पर शुरू होगा. वही यह ग्रहण 6 जून को 2:34 तक रहेगा. इसके साथ ही 12:53 पर यह ग्रहण पर सबसे प्रभावी रहेगा. इसके साथ ही हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह ग्रहण 3 तरह के होते हैं. जिसमें पूर्ण चंद्रग्रहण को पहले स्थान पर रखा गया है. वहीं दूसरे स्थान पर आंशिक चंद्रग्रहण को रखा जाता है. जबकि तीसरे स्थान पर उपच्छाया चंद्रग्रहण आता है. वही पहले चंद्र ग्रहण का प्रभाव सबसे ज्यादा अधिक माना जाता है जबकि उपच्छाया चंद्र ग्रहण का प्रभाव उतना नहीं माना जाता है. 

हमारे वैदिक शास्त्रों में चंद्रमा का सीधा संबंध कफ प्रकृति और मन से बताया गया है. इसके साथ ही यह ग्रहण 5 जून को लगेगा जो भारत सहित अन्य देशों में गहरा प्रभाव छोड़ने वाला है. इसके साथ ही ज्योतिषी का मानना यह भी है कि इस बार का उपच्छाया चंद्र ग्रहण का प्रभाव मनुष्य जाति के लिए सामान्य से कई गुना बेहतर रहेगा. जिससे देश को कोरोना संक्रमण से निपटने की मदद मिलेगी.

मरी माँ के साथ रोते बच्चे को देख शाहरुख़ खान ने कहा ‘मुझे पता है माँ को खोना कैसा लगता है’

कोरोनावायरस अदृश्य हो सकता है लेकिन हमारे कोरोना योद्धा अजेय हैं: पीएम मोदी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *