चीन सीमा विवाद: राहुल गांधी ने राजनाथ सिंह से चीन के सीमा विवाद पर प्रश्न पूछा, मिला यह जवाब...

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक बार फिर लद्दाख क्षेत्र में चीन के साथ सप्ताह भर के विवाद को लेकर सरकार पर निशाना साधा. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के निर्देश पर किए गए एक ट्वीट में राहुल गांधी ने एक सवाल पूछा “एक बार जब आरएम को प्रतीक पर टिप्पणी की जाती है, तो क्या वह जवाब दे सकता है: क्या लद्दाख में चीनी कब्जे वाले भारतीय क्षेत्र में है?”

यह ट्वीट गांधी पर गांधी की प्रतिक्रिया के जवाब में था, जिन्होंने पहले चीन के साथ सीमा विवाद के मुद्दे पर सवाल उठाए थे. राहुल गांधी ने सोमवार सुबह केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर हमला करने के लिए मिर्जा गालिब की कविता का इस्तेमाल किया था. हिंदी में एक ट्वीट में उन्होंने कहा, “सब को मालूम है ‘सीमा’ की हक़ीक़त लेकिन, दिल के ख़ुश रखने को, ‘शाह-यद’ ये ख़्याल अच्छा है”

राजनाथ सिंह ने शाम को ग़ालिब के दोहे के एक और नए तरीके के साथ हिंदी में कहा: “जब आप दर्द करते हैं तो हाथ पर दवा लगाते हैं, लेकिन जब हाथ ही दर्द का कारण होता है तो क्या होता है(मिर्ज़ा ग़ालिब का ही शेर थोड़ा अलग अन्दाज़ में है. ‘‘हाथ’ में दर्द हो तो दवा कीजै, ‘हाथ’ ही जब दर्द हो तो क्या कीजै)” “हाथ” कांग्रेस पार्टी का चुनाव चिन्ह है.

शाह ने रविवार को कहा था कि भारत की रक्षा नीति को वैश्विक स्वीकृति मिली है और दुनिया इस बात से सहमत है कि अमेरिका और इजरायल के बाद, अगर कोई अन्य देश अपनी सीमाओं की रक्षा करने में सक्षम है, तो वह भारत है.

गांधी चीन के साथ सीमा विवाद पर सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला करते रहे हैं और सरकार से स्थिति पर सफाई देने के लिए कहते रहे हैं.

चीन सीमा विवाद पिछले एक महीने से अधिक समय से चल रहा है. दोनों देशों के शीर्ष सैन्य अधिकारियों के बीच शनिवार को एक बैठक हुई, जो बिना किसी सफलता के समाप्त हो गई. लेकिन चीन ने बैठक के बाद कहा कि एक “आम सहमति” बन गई थी. चीनी विदेश मंत्रालय ने यह भी कहा कि मतभेदों को विवादों में बदलने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए.

विदेश मंत्रालय ने यह भी कहा था कि भारत और चीन सीमा गतिरोध को हल करने के लिए सैन्य और राजनयिक संपर्क जारी रखेंगे.

मोदी 2.0: हिन्दुस्तान टाइम्स के सीताराम येचुरी ने कहा, मोदी के काले बादलों ने देश को उलझा दिया

दिल्ली में एक दिन में 1,295 नए कोरोना के मामले, मरीजो की संख्या 19,844 पार; मरने वालों की संख्या 473

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *